Ramphal Health Benefits in Hindi – ग्रेविओला एक बहुत ही खट्टा फल है जिसके बहुत उपयोग होते हैं

In this post, we introduce to yoy Graviola fruit which is beleived to be having miraculous cancer curing properties. Find out the many Graviola Benefits in Hindi here.

Graviola or Ramphal health benefits explained nicely in Hindi. Graviola is believed to help in fighting and preventing breast cancer, prostate cancer and other diseases; let us take a look at Graviola medicinal uses in Hindi.

Ramphal Health Benefits

ग्रेविओला जिसे हिंदी में रामफल कहते है, ज्यादातर अफ्रीका , दक्षीण अमेरिका  और दक्षिणपूर्व एशिया के बरसाती जंगलों में पाया जाता है. कुछ साल पहले जब इसके बारे में नए रिसर्च किये गए तो पता चला की इसके रस में कई ऐसे तत्व होते है जो कैंसर का इलाज करने में काम आ सकता है. यह तत्व यकृत और स्तन कैंसर के कीटाणुओं को मारने की क्षमता रखतें है.यह शरीफे की तरह दिखने वाला फल भारत के कई इलाकों में भी मिलता है जैसे हैदराबाद  जो तेलंगाना की राजधानी है. यहाँ की भाषा “तेलुगु” में भी इसे रामफल ही कहतें हैं. क्या रामफल सचमुच कैंसर को मारने की क्षमता रखता है. चालिये देखते है की इस खट्टे फल की क्या क्या खास बातें है और ये कैसे स्वाथ्य के लिए लाभदायक है.

Graviola Fruit or Soursop
Graviola Fruit or Soursop

ग्रेविओला या रामफल मिलता कहाँ है ?

रामफल का पेड़ एक सदाबहार पेड़ है जो क्यूबा, मध्य अमेरिका, मैक्सिको, कोलंबिया, ब्राजील, पेरू, वेनेजुएला और अन्य अमेज़न के वर्षावन क्षेत्रों में पाया जाता है. यह फल  लाखों कैंसर के रोगियों के लोगों के साथ-साथ उनके डॉक्टरों के लिए आशा की एक किरण के रूप में आता है। इसका वैज्ञानिक  नाम एनोना मुरिकाता है, और इस फल को कैंसर के प्राकृतिक इलाज के रूप में पूरे समुदाय के लिए एक भगवान का उपहार माना जा सकता है। वैसे कई परिक्षण किए  गए हैं  लेकिन  इसे कैंसर के लिए एक सिद्ध उपचार के रूप में घोषित करने से पहले बहुत और परिक्षण करने की जरूरत है.  अभी तक के रिसर्च से ये माना जा रहा है के ये फल कैंसर के इलाज़ में काफी कारगर   हो सकता है। ग्रेविओला , पत्ते, पाउडर, कैप्सूल के रूप में और यहां तक कि तरल रूपों में विभिन्न रूपों में उपलब्ध है

Graviola supplement
Buy Graviola supplement here

 ग्रेविओला- एक फल अलग-अलग नाम-ग्रेविओला के समानार्थी शब्द

स्पेनिश लोग इसे  “गुआनबाणा ” फल कहते हैं। पुर्तगाली “ग्रेविओला ” कहते हैं। ब्राजीलियाई ऐसे गंदा, गुयाबानो, करोसोलिएर , गुआनावाना  , टोगे बांरेिसि , डूरियन बंगला , नंगका ब्लॉन्डा , सिर्सक , और नंगका लोंडा के रूप में अलग-अलग नामों से बुलाते हैं । दक्षिण भारतीय राज्य केरल में, यह बस कांटों के साथ शरीफा,या “मुल्लथा ” के रूप में जाना जाता है। अन्य भारतीय क्षेत्रों में, यह शूल -राम-फल और हनुमान फल के रूप में जाना जाता है।यह बड़े फल आकार का एक खट्टा फल है । यह कच्चा खाया जाता है और इसके गूदे  या रस का शर्बत तैयार करने में भी उपयोग  हो सकता है. इस फल के कैंसर रोधक गुण उल्लेखनीय हैं। कुछ रिपोर्टों के अनुसार, यह एक नियमित कीमोथेरेपी से दस हजार गुना अधिक प्रभावी हो सकता है।

ग्रेविओला के स्वास्थ्य लाभ और कुछ सामान्य गुण | Graviola Health Benefits in Hindi

  • वैसे ग्रेविओला कई तरह के इलाज में उपयोग किया जाता है, यह मुखयतः अपने कैंसर विरोधी प्रभाव के लिए बहुत लोकप्रिय हो गया है
  • अपने  एंटीबायोटिक  या माइक्रोबियल विरोधी  गुणों के कारण ग्रेविओला फंगल संक्रमण से लड़ने में अद्भुत काम करता है
  • पेट के कीड़े और परजीवी इस फल से स्वाभाविक रूप से मारे जाते हैं
  • ग्रेविओला उच्च रक्तचाप के प्रबंधन और उपचार में भी प्रयोग किया जाता है
  • तनाव, अवसाद और तंत्रिका संबंधी विकार से पीड़ित लोगों को इस फल लेने के बाद सकारात्मक परिणाम दिखाई दिए है
  • इसमें कोई शक नहीं कि ग्रेविओला कैंसर की रोकथाम रस  का काम करता है
  • इससे भी बड़ी बात ये है  कि यह एक प्राकृतिक फलों का रस है, इसलिए किसी भी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं होता ।
  • ग्रेविओला पेड़ कहीं भी आसानी से उगाया जा सकता है जैसे हैदराबाद  और कई  दुसरे जगहों पर

ग्रेविओला अनुसंधान अध्ययन | Graviola Medicinal Uses in Hindi

  • यह कैंसर की कोशिकाओं को मारता है और एक प्राकृतिक चिकित्सा के रूप में प्रभावी है ।
  • केमो चिकित्सा के विपरीत इससे  वजन घटना , बालों का झरना  और मतली जैसे में कोई साइड इफेक्ट  नहीं है ।
  • ग्रेविओला का रस एक प्रतिरक्षा प्रणाली  बूस्टर और रक्षक का काम करता है ।
  • यह पेड़ और इसके हिस्से  कई घातक संक्रमण के खिलाफ काम करतें  है ।
  • चाहे उपचार कितने दिन भी चले , आप हमेशा मजबूत और स्वस्थ महसूस करते हैं ।
  • जो इस फल का उपयोग करता है, उसका समग्र दृष्टिकोण में सुधार आता हैं ।
  • इसकी पत्तियां  कैंसर कोशिकाओं को मारने में समान रूप से प्रभावी हैं ।

ग्रेविओला पेड़ के रस का लाभ

इसका रस पेट के कैंसर, स्तन कैंसर, प्रोस्ट्रेट कैंसर, अग्नाशय के कैंसर और फेफड़ों के कैंसर  कोशिकाओं को मारता है कैंसर कोशिकाओं को मारने के क्रम में यह स्वस्थ कोशिकाओं को कोई नुकसान नहीं करता है

ग्रेविओला के अन्य औषधीय उपयोग

ग्रेविओला पेड़ की छाल, जड़ और यहां तक कि फल के बीज विभिन्न स्वास्थ्य के मुद्दों के इलाज के लिए  इस्तेमाल किया गया है, जैसे :

  • दिल के रोग
  • खराब लिवर
  • दमा के मुद्दों
  • गठिया और जोड़ों से संबंधित बीमारियों

Leave a Reply

Your email address will not be published.